सिद्धू मूसेवाला केस के संदिग्धों के साथ पंजाब पुलिस की मुठभेड़ में गैंगस्टर जगरूप रूपा और मनप्रीत उर्फ मन्नू ढेर हो गया है, जबकि तीन पुलिसवाले जख्मी हुए हैं. ये मुठभेड़ अमृतसर के भकना कलानौर गांव में हुई. पंजाब के डीजीपी गौरव यादव घटनास्थल पर पहुंचे हैं. मनप्रीत ही वो शूटर है, जिसने सबसे पहली गोली AK47 से मूसेवाला पर चलाई थी. सूत्रों के मुताबिक- कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बरार ने आदेश दिया था कि मनप्रीत ही सबसे पहली गोली मूसेवाला पर चलाएगा. दरअसल, मनप्रीत जब पंजाब की जेल में बंद था तब पटियाला गैंग के सदस्यों ने जेल में इसकी जूते-चप्पलों से पिटाई की थी और उस वीडियो को वायरल कर दिया था. इसी के चलते पटियाला गैंग को सबक सिखाने और बदला लेने के लिए मनप्रीत ने गोल्डी बरार से पहली गोली चलाने की गुजारिश की थी और वो पहली गोली मनप्रीत ने ही चलाई थी. इन दोनों के अलावा तीसरा दीपक मुंडी फरार है.एनकाउंटर में तीन पुलिसवाले, तीन आम नागरिक घायल होने की जानकारी मिली है

.

बता दें कि मूसेवाला केस में एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें सिंगर सिद्धू मूसेवाला को मारने के बाद उनके हमलावरों को जश्‍न मनाते हुए देखा जा सकता है. यह वीडियो एक शूटर के पास से बरामद किया गया था, इसमें पांच लोगों को एक कार में देखा जा सकता है. सभी मुस्‍कुरा रहे हैं ओर कैमरे के सामने अपनी बंदूक लहरा रहे हैं. वीडियो में जो कार में आगे वाली सीट पर नीली टी शर्ट में बैठा है वो शूटर प्रियव्रत फौजी है जबकि पीछे वाली सीट पर जो चेक की शर्ट पहनकर बैठा है वो अंकित है.हत्‍याकांड में शामिल सबसे कम उम्र के शूटर अंकित सिरसा का फोन स्‍कैन किए जाने के बाद यह वीडियो सामने आया है. इस मामले में अंकित और सचिन को पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के मुताबिक, अंकित, सजायाफ्ता गैंगस्‍टर लॉरेंस बिश्‍नोई के गैंग का सदस्‍य है.सूत्रों के मुताबिक- कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बरार ने आदेश दिया था कि मनप्रीत ही सबसे पहली गोली मूसेवाला पर चलाएगा. दरअसल, मनप्रीत जब पंजाब की जेल में बंद था तब पटियाला गैंग के सदस्यों ने जेल में इसकी जूते-चप्पलों से पिटाई की थी और उस वीडियो को वायरल कर दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed