हिमाचल प्रदेश ऊना जिला मुख्यालय ऊना के समीपवर्ती गांव लमलैहड़ी के पास शुक्रवार दोपहर बाद चालक की लापरवाही से निजी स्कूल बस अनियंत्रित होकर खाई में पलटे खाने के बाद 30 फुट नीचे जा गिरी। हादसे में बस में सवार 12 विद्यार्थी घायल हो गए। इनमें से तीन विद्यार्थी गंभीर घायल हुए हैं। क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में प्राथमिक उपचार के बाद एक छात्रा को पीजीआई रेफर किया गया है। हादसे के बाद उपायुक्त ऊना ने जिले के एसडीएम को सभी निजी स्कूलों की बसों की जांच के आदेश दिए हैं। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि बीच रास्ते में बस में तकनीकी खराबी आ गई थी। चालक ने नीचे उतरकर देखा तो डीजल लीक हो रहा था। चालक ने अभिभावकों को फोन कर बच्चों को ले जाने के लिए कहा। चार बच्चे उतार भी दिए। इसी दौरान चालक ने अन्य बैठे बच्चों के साथ बस मोड़ने का प्रयास किया। वह बस को 30 मीटर दूर आगे ले गया। मोड़ते समय तेल लीक होने से ब्रेक नहीं लगी और पीछे से ही खाई में गिर गई। बस में हेल्पर भी नहीं था। 

बताया जा रहा है कि बस चालक को भी उपचार के लिए क्षेत्रीय अस्पताल लाया गया था, लेकिन यहां माहौल को देखकर वह मौके से खिसक गया। हालांकि, बाद में पुलिस ने उसे थाना बुलाया और पूछताछ की। उधर, पुलिस अधीक्षक ऊना अर्जित सेन ठाकुर ने बताया कि हादसे को लेकर जांच पड़ताल की जा रही है। बस में तकनीकी खामी के कारण ब्रेक न लगने से हादसा होने की सूचना मिली है। मेकेनिकल रिपोर्ट के बाद ही हादसे के कारण स्पष्ट होंगे। कहा कि आरटीओ और शिक्षा उपनिदेेशक को पत्र लिखकर सुप्रीम कोर्ट की निजी स्कूल बस को लेकर गाइडलाइन को सख्ती से लागू करवाने के लिए कहा गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed