हिमाचल प्रदेश में पांवटा साहिब के एसडीएम विवेक पर सैर करते समय बंदरों ने हमला कर दिया। जिसमें वह मामूली रूप से ज़ख्मी हुए हैं। जब इस बारे में उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया कि पाथवे पर सुबह एक बुजुर्ग सैर कर रहे थे जब वह उनके पास से गुजर रहे थे अचानक बंदरों ने उन पर हमला कर दिया उनकी मदद के लिए जैसे ही वह आगे बड़े बंदरों ने बुजुर्ग को छोड़ उन पर हमला कर दिया। जिसमें वह मामूली तौर पर ज़ख्मी हुए हैं। पांवटा साहिब में बंदरों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है विशेष तौर पर यमुना विहार और ऐसे ही कई कालोनियों में बंदरों का आतंक इतना है कि लोग अपनी छतों पर भी नहीं जा सकते, बता दें कि पिछले 3 वर्षों में यमुना विहार सहित दो लोग बंदरों के आतंक के चलते छतों से गिर चुके हैं जिनमें वह गंभीर रूप से ज़ख्मी भी हुए इसके अलावा दर्जनों लोगों को बंदरों काटने के कारण अस्पताल का रुख करना पड़ा है। वही आपको बता दें कि आक्रामक बंदरों को रेस्क्यू करने के लिए एक पूरी टीम पांवटा साहिब में मौजूद है बंदरों को पकड़ने के लिए बकायदा पिंजरे भी बनाए गए हैं लेकिन जिस स्तर पर कार्य किया जाना चाहिए वह नहीं हो पा रहा है कुछ कर्मचारी कम हैं तो कहीं इच्छा शक्ति की भी कमी देखी जा सकती है। वहीं कुछ लोगों ने बताया कि सभी बंदर आक्रामक नहीं है बल्कि कुछ बंदर ही आक्रामक है जो अक्सर हमला करते हैं और उनके हमले में ही ज्यादातर लोग ज़ख्मी होते हैं ऐसे में लोगों ने वन विभाग से गुहार लगाते हुए कहा कि ऐसे आक्रामक बंधुओं को पकड़ कर कहीं दूर जंगलों में छोड़ा जाए ताकि लोगों को कुछ राहत मिल सके और लोग बंदरों के भय के बिना अपना जीवन व्यतीत करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.