बीते दो दिन पहले ही अंशुल चौहान 2 बजे HRTC बस में आर्मी रिटर्न कागज़ जमा करने शिमला जा रहा था कि किसी ने गलती से किसी ने बद्रीपुर से रेनबैक्सी चोंक भाठावाली के बीच उसका बेग किसी ने उतार लिया है ,उसमें अंशुल के सारे जरूरी कागज आर्मी की रिटर्न स्लिप , 10+2 की मार्कशीट, पेन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, सारे कागज थे । अंशुल चौहान की आज तक कि मेहनत का सवाल था जो आज -18-11-22 को शंकुरा निवासी धौलाकुआं और पूजा निवासी बद्रीपुर ने एक युवा की पूंजी को वापस देखर ईमानदारी की मिसाल पेश की है । जरूरी कागजात से भरा बैग मिलने पर अंशुल चौहान के पिता सुरेंद्र चौहान ने दोनों बेटियाँ शंकुरा और पूजा का धन्यवाद किया है साथ ही शोशल मीडिया में जिन्होंने जरूरी कागजात से भरा बैग ढूढ़ने में मदद की उनका आभार जताया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed