भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन(एनएसयूआई) ने हिमाचल प्रदेश के शिक्षा मंत्री से मुलाकात की ओर छात्रों के समस्याओं बारे ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कई बातें कही गई और मांगे रखी गई।

परिसर समन्वयक धनंजय नेगी ने कहा कि एनएसयूआई 1971 से लगातार छात्र हित की बात करता आया है। उसी प्रकार से आज भी छात्रों के विभिन्न समस्याओं को उजागर कर रहा है।

ये रही मांगे:

1) कॉलेज के अंदर जल्द से जल्द बीबीए की कक्षाएं शुरू की जाए। क्योंकि आसपास में कहीं भी बीबीए की कक्षाएं नहीं है। इस कारण छात्रों को उत्तराखंड हरियाणा व चंडीगढ़ में जाकर बीबीए की डिग्री हासिल करनी पड़ती है। गरीब वर्ग से जो छात्र आता है वह बीबीए की डिग्री पाने से वंचित रह जाता है।

2) पांवटा साहिब में 24×7 सरकारी लाइब्रेरी बनाई जाए।

3) कॉलेज के भीतर एक फर्स्ट एड मेडिकल की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए, ताकि कॉलेज के भीतर अगर कोई भी छात्र खेलते या किसी भी कारण वर्ष घायल हो तो उसे प्राथमिक उपचार मिल सके।

4) कॉलेज में फार्मास्यूटिकल डिप्लोमा शुरू करवाया जाए, जिसमे 120 सीटे उपलब्ध करवाई जाए।

इस दौरान इस दौरान धनंजय नेगी, अखिल चौहान, प्रिंस शर्मा, अंकित शर्मा, अर्जुन, अमन, निखिल, तुषार आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed