मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को राज्य में कोरोना के मामलों पर कड़ी निगरानी रखने और इनमंे किसी भी तरह की संभावित वृद्धि की स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक कार्यबल और मशीनरी को तैयार रखने के निर्देश दिए।


मुख्यमंत्री आज यहां राज्य में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पॉजिटिव केस सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग को भी मजबूत करना सुनिश्चित किया जाए। उन्हांेने कहा कि राज्य मंे आंगतुकों को कोविड-19 उचित व्यवहार के लिए प्रोत्साहित करने के साथ-साथ इससे संबंधित उचित निगरानी भी रखी जानी चाहिए।


सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि फ्लू जैसे लक्षण वाले लोगों की कोविड-19 की जांच भी अवश्य करवाई जाए ताकि उनका शीघ्र इलाज शुरू किया जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य संस्थानों में पर्याप्त जांच सुनिश्चित की जानी चाहिए।
प्रधान सचिव स्वास्थ्य सुभासीष पन्डा ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि प्रदेश में 2526 ऑक्सीजन युक्त समर्पित बिस्तर तथा 2046 कोविड समर्पित बिस्तर हैं। उन्होंने कहा कि कोविड टीकों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रयास किए जाएंगे।


इस अवसर पर मिशन निदेशक एनएचएम हेमराज बैरवा ने एक विस्तृत प्रस्तुति दी और कहा कि राज्य में कोविड के केवल 28 सक्रिय मामले हैं, जिनमें से केवल तीन अस्पताल में उपचाराधीन हैं।
विधायक इन्द्र दत लखनपाल, संजय अवस्थी, केवल सिंह पठानिया और अजय सोलंकी, मुख्य सचिव आर.डी.धीमान, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त प्रबोध सक्सेना, निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग डॉ. गोपाल बेरी और स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.