हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में शनिवार सुबह पहाड़ दरका, जिससे नीचे स्कूल पर बड़ी-बड़ी चट्‌टानें गिरी और इमारत क्षतिग्रस्त हो गई। गनीमत रही कि छुटि्टयां होने के चलते स्कूल बंद है और बच्चे नहीं आ रहे, वरना बड़ी अप्रिय घटना घटती। मामला चुराह की ग्राम पंचाचत चीह का है। राजकीय उच्च पाठशाला की इमारत टूटी है।

मिली जानकारी के अनुसार, चीह स्कूल के पीछे मौजूद पहाड़ी से बड़ी-बड़ी चट्टानें स्कूल के लेंटर पर आ गिरीं। यह चट्टानें इतनी भारी-भरकम थीं कि लेंटर को तोड़कर स्कूल कमरों के भीतर पहुंच गई। हादसे की सूचना मिलने पर स्कूल मुख्याध्यापक मौके पर पहुंचे और BEEO सलूणी को घटना की सूचना दी।

बताया जा रहा है कि पहाड़ दरकने से स्कूल पर गिरी विशालकाय चट्टान के कारण कमरे के भीतर रखे टेबलों, कुर्सियों समेत गोदरेज की अलमारी, दरवाजों और खिड़कियों को भारी क्षति पहुंची है। इतना ही नहीं चट्टान गिरने के धमाके से स्कूल के दूसरे कमरों में भी दरारें आई हैं। ऐसे में अब स्कूल में बच्चे भी सुरक्षित नहीं हैं।

बता दें कि स्कूल में वर्तमान समय में 26 विद्यार्थी शिक्षारत हैं। स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष प्रकाश चंद ने बताया कि चट्टान गिरने से स्कूल भवन क्षतिग्रस्त हो गया है, जो अब बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं है। पहाड़ी से भूस्खलन का क्रम जारी है। 13 फरवरी से बच्चों की कक्षाएं शुरू हो रही हैं, लेकिन अभी उन्हें बुलाना ठीक नहीं लग रहा।

उन्होंने उपायुक्त चंबा और शिक्षा उपनिदेशक से मांग की है कि बच्चों की पढ़ाई बाधित न हो, इसके लिए उन्हें दूसरी जगह पर स्थानांतरित किया जाए। वहीं BEEO सलूणी जगदीश चंद शर्मा ने बताया कि मुख्याध्यापक ने हादसे के बारे में बताया। उच्च शिक्षा उपनिदेशक को अवगत करवाया गया है। सोमवार को मुख्याध्यापक नुकसान संबंधी रिपोर्ट सौंपेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.