जुन्गा तहसील मुख्यालय से सटी भड़ेच पंचायत में बीते कल भीषण आग लगने से करीब पांच सौ सेब के पौधे बुरी तरह से झुलस गए। इसके अतिरिक्त एक गौशाला, रिहायशी मकान, किसानों की घासनियों को भी भारी नुकसान पहुंचा है। नायब तहसीलदार जुन्गा इंद्र कुमार ने मौके पर जाकर नुकसान का जायजा लिया व प्रभावित परिवारों से बातचीत की। उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारियों को नुकसान का सही आकलन करने के निर्देश भी दिए हैं। नायब तहसीलदार के अनुसार आगजनी के कारण भड़ेच पंचायत के राजस्व गांव बाहली खनलोग में अनिल ठाकुर, हीरा सिंह और अमींचंद के सेब के बगीचों को भारी नुकसान हुआ। आग के कारण सेब पर लगी जालियां भी जल गई। इसी प्रकार बहाली खनलोग में कमला की गौशाला पूरी तरह जल गई, हालांकि गौशाला से मवेशियों को बाहर निकाल दिया गया था।

इसके अतिरिक्त ओम चंद के रिहायशी मकान के पिछली तरफ दो कमरों को काफी नुकसान पहुंचा है। उन्होने बताया कि आगजनी से हुए नुकसान की रिपोर्ट सरकार को भेज दी जाएगी। अहम बात यह है कि आगजनी से पंचायत घर व पटवार सर्कल भड़ेच को आगजनी की भेंट चढ़ने से बचा लिया गया। स्थानीय पटवारी सुरेश ठाकुर ने बताया कि नुकसान का आकलन कार्य प्रगति पर हैं। प्रभावित बागवान एवं पूर्व प्रधान अनिल ठाकुर ने बताया कि उनके बगीचे में करीब अढाई सौ सेब के पौधे आग से नष्ट हो गए हैं। अधिकांश पौधे सेब से लदे हुए थे। उन्होंने बताया कि उनके बागीचे में अधिकांश रूटस्टाॅक व एम-9 पौधें लगें थे। उन्होने बताया कि यह आग बाहली नाला से आरंभ होकर खारी ढलियाणा और भड़ेच तक पहुंच गई थी। अधिकांश लोगों के बगीचे, फसलों के खेत व घासनियां जल कर राख हो गई हैं। कड़ी मशक्कत के बाद स्थानीय लोगों ने आग पर काबू पा लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.