हिमाचल प्रदेश में भूस्खलन और पत्थर गिरने से होने वाले हादसे रुकने का नाम नहीं ले रहे है। मॉनसून के चलते पहाड़ी इलाकों में यात्रा करना लोगो के लिए घातक साबित हो रहा है। प्रदेश में अब तक कई ऐसे हादसे हो चुके है जिसमे कई लोगो ने अपनी जान गवा दी है। ऐसा ही एक मामला चंबा जिले में हड़सर-दुनाली मार्ग पर आया है जहां पहाड़ी से पत्थरों के गिरने से मणिमहेश यात्रा पर जा रहीं मां-बेटी की मौत हो गई। हादसे में दो लोग घायल हो गए।

मिली जानकारी अनुसार यह हादसा तब पेश आया जब मां-बेटी व दो अन्य लोग पैदल मणिमहेश यात्रा पर जा रहे थे। इस दौरान हड़सर-दुनाली मार्ग पर दुनाली के पास पहाड़ी से अचानक पत्थर गिरने लगे। जिसमे ये सभी लोग पत्थरों की चपेट में आ गए। इस हादसे में मां-बेटी की मौत हो गई जबकि अन्य दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

मृतकों की पहचान अंविता उम्र 10 वर्ष पुत्री गोगा राम और सोनू देवी उम्र 32 वर्ष पत्नी गोगा राम निवासी लुपयाणा तहसील हारचक्कियां जिला कांगड़ा के रूप में हुई है। जबकि घायलों की पहचान साहिल शर्मा उम्र 22 वर्ष पुत्र सुभाष चंद गांव सलोली मोड़ जिला ऊना और गणेश उम्र 27 वर्ष पुत्र तिलक राज निवासी वार्ड-5 सुजानपुर तहसील के रूप में हुई हैं।

घायलों को भरमौर अस्पताल ले जाया गया। यहां घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद साहिल कुमार को मेडिकल कॉलेज चंबा के लिए रेफर कर दिया गया।

वहीं, डीएसपी अभिमन्यु वर्मा ने हादसे की पुष्टि करते हुए बताया कि सिविल अस्पताल भरमौर में पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सौंपे जाएंगे। भरमौर प्रशासन की ओर से मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार की फौरी राहत प्रदान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.