भारतीय भाला फेंक खिलाड़ी अन्नू रानी ने विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है।भारत की भाला फेंक खिलाड़ी अन्नू रानी ने गुरुवार को यहां अपने आखिरी प्रयास में 59.60 मीटर भाला फेंक कर विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल्स के लिये क्वालीफाई किया। अन्नू पर शुरू में ही बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था क्योंकि उनका पहला प्रयास ‘फाउल’ हो गया था जबकि दूसरे प्रयास में वह 55.35 मीटर तक ही भाला फेंक पायी थी। आखिर में वह 59.60 मीटर भाला फेंकने में सफल रही जो फाइनल्स में जगह बनाने के लिये पर्याप्त था।

दो वर्गों में 62.50 मीटर या 12 सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों ने फाइनल्स में जगह बनाई। केवल तीन प्रतियोगी ही 62.50 मीटर के स्वत: क्वालीफाइंग मार्क को हासिल कर पाये। विश्व चैंपियनशिप में तीसरी बार भाग ले रही अन्नू ने लगातार दूसरी बार इस प्रतियोगिता के फाइनल के लिए क्वालीफाई किया है। वह 2019 में दोहा में पिछली विश्व चैंपियनशिप में 61.12 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ फाइनल में आठवें स्थान पर रही थी।वह ग्रुप बी क्वालीफिकेशन दौर में पांचवें स्थान पर रही और उन्होंने दोनों ग्रुप में आठवें सर्वश्रेष्ठ प्रयास के आधार पर फाइनल्स में जगह बनायी। यह 29 वर्षीय राष्ट्रीय रिकार्ड धारक 60 मीटर तक नहीं पहुंच पायी लेकिन उनके पास शनिवार को होने वाले फाइनल्स में अपने प्रदर्शन में सुधार करने का मौका रहेगा। उनका सत्र का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 63.82 मीटर है।

इस बीच महिलाओं की 5000 मीटर में पारुल चौधरी हीट नंबर दो में 15 मिनट 54.03 सेकेंड के समय के साथ 17वें और कुल मिलाकर 31वें स्थान पर रहकर सेमीफाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहीं। ओलंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा शुक्रवार (भारतीय समयानुसार सुबह 5:35 बजे) पुरुषों के भाला फेंक के क्वालिफिकेशन राउंड के ग्रुप ए में प्रतिस्पर्धा करेंगे।तोक्यो खेलों के रजत पदक विजेता जाकुब वालदेच (चेक गणराज्य) और लंदन ओलंपिक 2012 के स्वर्ण पदक विजेता केशोर्न वालकॉट (त्रिनिदाद एवं टोबैगो) भी उनके ग्रुप में होंगे। फाइनल रविवार को होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.